SSB interview kya hai – SSB इंटरव्यू में क्या-क्या होता है – पूरा प्रोसेस जानें


SSB interview kya hai – आज कि इस आलेख में आपको SSB Interview की पूरी जानकारी मिलने वाली है , इस लेख को पूरा पढ़ लेने के बाद आप को पता चल जाएगा कि SSB इंटरव्यू क्या है  (SSB Interview Information in HIndi )और इसमें क्या-क्या होता है , SSB इंटरव्यू को कैसे पास करें ?

अगर आपका सपना इंडियन एयरफोर्सनेवी तथा आर्मी में अधिकारी पद पर ज्वॉइन करने का है तो आपके लिए SSB interview से गुजरना अनिवार्य है।

SSB interview क्या है और एसएसबी इंटरव्यू को कैसे क्रैक करें? से related पूरी जानकारी हासिल करने के लिए आप हमारे आज के आर्टिकल को पढ़ें।

आज के आर्टिकल में हम आपको सेवा चयन बोर्ड की साक्षात्कार चयन परीक्षा (SSB interview) के बारे में विस्तृत जानकारी देंगे और साथ में उसके विभिन्न केन्द्रो के बारे में भी सूचना उपलब्ध कराएँगे।

SSB interview kya hai – SSB इंटरव्यू में क्या-क्या होता है – पूरा प्रोसेस जानें

SSB interview kya hai in Hindi

एसएसबी इंटरव्यू देश की सैन्य सेनाओं में अधिकारी पद के चयन के लिए कराया जाता है।

चाहे आप permanent officer बनना चाहते हों या फिर कोई task officer, सभी के लिए सेना में ऑफिसर रैंक में नौकरी पाने के लिए ssb interview देना अनिवार्य होता है।

इस इंटरव्यू के द्वारा प्रत्येक अभ्यर्थी के शारीरिकबौद्धिक तथा व्यक्तिगत योग्यताओं का विशेष परिकलन किया जाता है। यह इंटरव्यू हमारे देश में होने वाले सबसे कठिन इंटरव्यू में से एक है लेकिन अगर अपने अच्छी तैयारी की है तो आपको सफलता जरुर मिलेगी |

एसएसबी इंटरव्यू defence ministry द्वारा स्थापित कुल 11 एसएसबी सेंटर में से किसी एक पर कराया जाता है।

यह interview की प्रक्रिया पांच दिन तक चलती है जिसमें हर दिन अलग-अलग टेस्ट लिए जाते हैं। एसएसबी इंटरव्यू प्रोसेस सफतापूर्वक पूरा करने के बाद ही उम्मीदवार को इंडियन एयरफोर्स, नेवी तथा आर्मी के कुल 08 ट्रेनिंग सेंटर में से किसी एक पर ट्रेनिंग के लिए भेजा जायेगा।

Service Selection Board Center (SSB Interview Center)

आपको बता दें, ssb interview का आयोजन थल सेनावायु सेना और नौसेना के लिए अलग-अलग सेंटर में कराया जाता है। आइए, एक नजर इन सारे सेंटर की लिस्ट पर डाला जाए –

SSB interview kya hai – SSB इंटरव्यू में क्या-क्या होता है – पूरा प्रोसेस जानें

SSB Interview Center for Indian Army ( भारतीय सेना के लिए)

  1. Service Centre East Allahabad Uttar Pradesh
  2. SERVICE CENTRE CENTRAL BHOPAL,MADHYAPRADESH
  3. SERVICE CENTRE SOUTH BANGALORE, KARNATAK

SSB Interview Center For INDIAN NAVY (भारतीय नौसेना के लिए)

  1.  नौसेना चयन बोर्ड कोयंबटूर, तमिलनाडु
  2.  नौसेना चयन बोर्ड विशाखापट्टनम, आंध्र प्रदेश

SSB Interview Center For IAF (भारतीय वायुसेना के लिए)

  1.  Airforce Selection Board Dehradun Uttarakhand
  2.  AirForce selection board Mysore Karnataka
  3.  Airforce Selection Board Gandhinagar Gujarat
  4.  Airforce selection board Varanasi Uttar Pradesh

एसएसबी इंटरव्यू के लिए कैसे जा सकते हैं?

उम्मीदवार को सबसे पहले भारतीय सरकार के रक्षा मंत्रालय द्वारा आयोजित सेना भर्ती की परीक्षा (जैसे NDA/NA, CDS, AFCAT, TES, SSC (T) UES) में पास करना होता है।

एसएसबी इंटरव्यू के लिए कुछ कैंडिडेट्स को DIRECT CALL LATTER के द्वारा भी बुलाया जाता है।

एसएसबी इंटरव्यू के लिए CALL LATTER मिलने के बाद आपको दिए गए तारीख पर अपने एसएसबी सेंटर पर जाना होता है। आपको बता दें, सरकार उम्मीदवार को SSB CENTER जाने के लिए यात्राभत्ता मुहैया कराती है।

एसएसबी इंटरव्यू प्रक्रिया / SSB Interview Process In Hindi

जैसा कि ऊपर हमने आपको बताया, SSB Interview 5 दिन का होता है जिसमें उम्मीदवार को प्रत्येक दिन अलग-अलग टेस्ट से गुजरना पड़ता है।

SSB Interview के अंतर्गत होने वाले सारे टेस्ट को 2 स्टेज में विभाजित किया जाता है –

Stage I

  • Screening Test

Stage II

  • Psychological Test
  • Group Testing Officers Test (GTO Interview)
  • Personal Interview
  • Conference

दोनों स्टेज के टेस्ट को 5 दिन में निम्न प्रकार से organise कराया जाता है –

  • पहला दिन (First Day) – स्क्रीनिंग टेस्ट
  • दूसरा दिन (Second Day) – साइकोलॉजिकल टेस्ट
  • तीसरा और चौथा दिन ( Third & Fourth Day) – ग्रुप टेस्टिंग ऑफिसर टेस्ट
  • दूसरा और चौथा दिन (Second & Fourth Day) – पर्सनल इंटरव्यू
  • पाँचवाँ दिन (Fifth Day) – कॉन्फ्रेंस

पहला दिन – स्क्रीनिंग टेस्ट

एसएसबी इंटरव्यू के पहले दिन में आपकी screening test होती है, जिसमें दो परीक्षाएं होती है। सुबह 5-6 बजे के बीच आपकी टेस्ट की प्रक्रिया शुरू हो जाता है।

स्क्रीनिंग टेस्ट के अंतर्गत 2 तरह के टेस्ट होते है –

  1. officer intelligence rating (OIR) /इंटेलिजेंस टेस्ट
  2. Picture perception and description test (PPDT) / पिक्चर परसेप्शन एंड डिस्कशन टेस्ट (पीपीडीटी)
  • officer intelligence rating

Intelligence Test में उम्मीदवार की simple logic और aptitude skills test की जाती है। इस टेस्ट के माध्यम से उम्मीदवार की क्विक थिंकिंग और एनालिटिकल थिंकिंग को चेक किया जाता है।

इस Test में QUANTATIVE APTITUDE और VERBAL और NON VERBAL REASONING से प्रश्न पूछे जाते हैं।

इस परीक्षा के लिए कैंडिडेट्स के पास कुल 30 मिनट का समय होता है। 30 मिनट के अंदर में उन्हें कुल 50 प्रश्नों को हल करना होता है।

इसमें MCQ questions आते हैं, जिसमे कोई नेगेटिव मार्किंग नहीं होती है। इस टेस्ट की परफॉरमेंस के आधार पर उम्मीदवारों को रेटिंग दी जाती है।

  • Picture perception and description test

Picture perception and description test या PPDT के माध्यम से उम्मीदवार की CREATIVITY और CREATIVE WRITTING की टेस्ट ली जाती है। इस टेस्ट में कैंडिडेट्स को एक ब्लैक एंड वाइट फोटो 30 सेकण्ड के लिए दिखाई जाती है।

उसके बाद हर कैंडिडेट्स को एक वाइट शीट दी जाती है जिसमें स्टोरी का टाइटल लिखना होता है। उसके बाद एक छोटा बॉक्स होता है जिसमें पिक्चर से रिलेटेड कुछ डिटेल्स लिखनी होती है। जैसे – कैरेक्टर का मूड क्या है, जेंडर, आयु और कैरेक्टर की पोजीशन मार्क करके बतानी होती है।

कैंडीडेट्स को 3 मिनट का time मिलता है, दिखाई गयी Photo पर एक Story लिखने के लिए।

Picture perception and description test को पास करने के लिए कैंडिडेट्स को story के लिए दिखाए गए चित्रों को सही तरीके से समझना आवश्यक हो जाता है।

बोर्ड ऑफिसर्स इसमें कैंडिडेट्स को पॉजिटिव ऐटिटूड पर ही जज करते हैं कि कैंडिडेट्स का चीजों को देखने का तरीका कैसा है। इसके बाद उम्मीदवारों को सब ग्रुप्स में डिवाइड कर दिया जाता है जिसमें कि एक ग्रुप में 14-15 उम्मीदवार होते है।

उसके बाद पिक्चर पर ग्रुप डिस्कशन टेस्ट होता है। ग्रुप डिस्कशन में उम्मीदवारों की अभिव्यक्ति की शक्ति (पावर ऑफ़ एक्सप्रेशन), लैंग्वेज की क्लैरिटी (लॉजिकल और ग्रैमेटिकल), कॉन्फिडेंस पार्टिसिपेशन और दूसरे के आइडियाज को एक्सेप्ट करने की क्षमता टेस्ट होती है।

पूरे test के दौरान candidates की Body language और attitude पर Result निर्भर करता है। इसलिए इस process में candidates को attentive और Confident होना बहुत जरूरी है।

  • स्क्रीनिंग टेस्ट का परिणाम –

पीपीडीटी की परीक्षा के बाद कैंडिडेट्स को ब्रेक टाइम (लंच और रेस्ट करने का समय) दिया जाता है। ब्रेक के बाद स्क्रीनिंग राउंड का परिणाम घोषित किया जाता है।

दूसरा दिन – साइकोलॉजिकल टेस्ट

एसएसबी इंटरव्यू प्रोसेस के दूसरे दिन साइकोलोजीस्टिस परीक्षा ली जाती है। इस परीक्षा के अन्तर्गत विभिन्न प्रकार के टेस्ट लिए जाते हैं।

इसमें कैंडिडेट्स को स्ट्रेस्फुल सिचुएशन दिए जाते हैं और उन्हें बहुत कम समय में उसका उत्तर अपनी शीट में लिखना होता है।

साइकोलॉजिकल टेस्ट के अंतर्गत मुख्य रूप से 4 टेस्ट होते हैं –

  • TAT (THEMATIC APPLICATION TEST) / थीमेटिक अपेर्सेप्शन टेस्ट (टीएटी)

TAT test के माध्यम से कैंडीडेट्स के क्रिएटिविटी तथा निर्णय लेने की बुद्धि की जाँच की जाती है। इसमें कैंडीडेट्स को 12 पिक्चर्स दिखाई जाती है और उनको हर पिक्चर के लिए 4 मिनट में एक स्टोरी लिखनी होती है।

  • WAT (WORD ASSOCIATION TEST) / वर्ड एसोसिएशन टेस्ट (डबल्यूएटी)

WAT टेस्ट से कैंडीडेट्स की पर्सनलिटी को जज करते है। इसमें उम्मदीवारों को 60 शब्दों को एक-एक करके दिखाया जाता है और हर शब्द 15 सेकण्ड के लिए दिखाया जाता है और कैंडीडेट्स इसी समय के अंदर अपनी आंसर शीट पर उस word से एक मीनिंगफुल सेंटेंस लिखना होता है।

  • SRT (SITUATION REACTION TEST) / सिचुएशन रिएक्शन टेस्ट (एसआरटी)

SRT में कैंडीडेट्स को कुछ परिस्थिति दी जाती हैं उस परिस्थिति में आप कैसे निर्णय लेते हैं और आप उस परिस्थिति से कैसे बाहर निकलते हैं इसकी परीक्षा होती है।

उम्मीदवारों को 30 मिनट में 60 प्रश्न दिए जाते हैं और आपको प्रश्नों के लिए 10 मिनट का समय दिया जाता है। आपको हर एक परिस्थिति के आधार पर 2-3 वाक्य तैयार करने होते हैं।

  • SDT (SELF DESCRIPTION TEST) / सेल्फ डिसक्रिप्शन टेस्ट (एसडी)

SDT के लिए पहले से आपकी तैयारी होनी चाहिए। इस टेस्ट में उम्मीदवारों को उनके पेरेंट्स, टीचर्स, फ्रेंड्स और वो खुद अपने बारे में क्या ओपिनियन रखते है के बारे में लिखना होता है। इसमें पॉज़िटिव और नेगेटिव दोनो चीजों पर ध्यान देना होता है।

तीसरा और चौथा दिन – ग्रुप टेस्टिंग ऑफिसर्स टेस्ट (जीटीओ इंटरव्यू)

एसएसबी इंटरव्यू प्रोसेस के तीसरे दिन को ‘Test of Your Body and Coordination Between Your Body and Mind’ माना जाता है।

इस दिन एक अधिकारी होता है जो कि कैंडीडेट्स का एक ग्रुप बनाते हैं। हर ग्रुप में 8-10 उम्मीदवार होते हैं और ये ग्रुप के कार्यों का निरीक्षण करते हैं। इसमें कैंडीडेट्स के फिजिकल और मेन्टल कैपेबिलिटीज पर जज किया जाता है।

जीटीओ टेस्ट में अलग-अलग तरह के टेस्ट को शामिल किया गया है –

  •  ग्रुप डिस्कसन (जीडी) (GROUP DISCUSSION)

ये सबसे पहला टेस्ट होता है इसमें समाज में हो रही घटना और अभी के समय में चल रही सामाजिक तथा राजनीतिक घटना और रक्षा विशेष घटना पर कैंडिडेट्स को डिस्कशन करना होता है।

इस test के जरिए कैंडिडेट्स के निर्णय लेने की क्षमता और उनकी सोचने की शक्ति का परीक्षण किया जाता है।

  •  ग्रुप प्लानिंग एकसरसाइज़ (जीपीई) (GROUP PLANNING EXERCISE)

इस test में हर group को कुछ situational problem और map दिए जाते हैं।

प्रत्येक कैंडिडेट को बताई गयी प्रोब्लम्स पर उनकी प्लानिंग लिखनी होती है और फिर बाद में ग्रुप मेंबर्स को साथ डिसकस करके सबकी सहमति पर एक कॉमन प्लान के साथ आना होता है। अंत में एक ग्रुप मेंबर को मैप और पॉइंटर की हेल्प से कॉमन प्लानिंग एक्सप्लेन करना होता है।

  •  प्रोग्रेसिव ग्रुप टास्क (पीजीटी) (Progressive Group Task (PGT)

PGT खुले मैदान में करना होता है। इसमें आपको खुले मैदान में कुछ बाधाएं दी जाएंगी। आपको अपने साथी को अपने प्लान के बारे में बताना होता है और इसी plan को follow करते हुए बाधाओं को पार करना होता है।

आप जैसे जैसे इन बाधाओं को पार करेंगे बाधाओं का स्तर बढ़ जाता है। इसके द्वारा आपके अंदर अपने टीम के साथ काम करने का हुनर देखा जाता है। इस test को आपको 30-40 मिनट्स के टाइम फ्रेम में पूरा करना होता है।

  •  हाफ ग्रुप टास्क (एचजीटी) (Half Group Task)

पीजीटी की तरह ही एचजीटी भी होता है। बस इसमें अंतर यह होता है कि इसमें ग्रुप मेंबर्स का नंबर हाफ हो जाता है। इसमें हर ग्रुप को दो पार्ट्स में डिवाइड कर दिया जाता है। इसमें भी 10-15 मिनट के टाइम फ्रेम में बाधाएं पार करने होते हैं।

  •  इंडिविजुअल ऑब्स्टैकल्स टास्क (आईओटी) / (INDIVIDUAL OBSTACLES)

आईओटी में कैंडिडेट को अकेले 3-4 मिनट के टाइम फ्रेम में 10 बाधाएं पार करने होते है।

  •  कमांड टास्क (COMMAND TASK)

COMMAND TASK भी TGT और PGT की तरह ही होता है। इस टास्क में भी कैंडिडेट को 2-3 सबओर्डिनेट्स की हेल्प से कुछ ऑब्स्टैकल्स क्रॉस करने होते है। इस राउंड में आपको अपने टीम से किन्हीं दो सदस्यों को चुनना होता है जो टास्क कम्पलीट करने में आपकी हेल्प कर सके।

  • ग्रुप ऑब्स्टैकल रेस (Group Obstacle Race)

ग्रुप ऑब्स्टैकल रेस को snake race भी कहते हैं। इस टेस्ट के माध्यम से कैंडीडेट के अंदर नेतृत्व के गुण को तथा कैंडीडेट अपने टीम को कैसे lead करते हैं उसकी क्वालिटी की जांच की जाती है।

इसमें कैंडीडेट को अपने साथियों के साथ 6 बाधाएं पार करनी होती है, इसमें कैंडीडेट को स्नेक जैसे रोप को होल्ड करके कुछ ऑब्स्टैकल्स को क्रॉस करना होता है।

  • इंडिविजुअल लेक्चरेट (INDIVIDUAL OBSTACLES)

इस राउंड में कैंडीडेट को अकेले ही 10 बाधाओं (जैसे कि Single ramp, double barrel beam balancing screen, jump Burma bridge Tarzan swing double platform jump double disc Commando walk Tiger leap) को पार करना होता है।

  • FINAL GROUP TASK

FINAL GROUP TASK चौथे पांचवें दिन का सबसे अंतिम राउंड होता है जिसमें आपको अपनी पूरी टीम के साथ बाधाओं को पार करना होता है। इस राउंड में यह जांच किया जाता है कि आप अपने टीम के साथ कितना अच्छे से काम कर सकते हैं।

दूसरा और चौथा दिन – पर्सनल इंटरव्यू

दूसरे या चौथे दिन में से किसी भी दिन कैंडीडेटस को PERSONAL INTERVIEW के लिए बुलाया जा सकता है। एक दिन पहले ही कैंडीडेटस को इसके लिए समय बता दिया जाता है।

PERSONAL INTERVIEW के लिए हर कैंडिडेट को personal information से संबंधित questions दिया जाता है।

पाँचवाँ दिन – कॉन्फ्रेंस

एसएसबी इंटरव्यू का पाँचवाँ दिन कॉन्फ्रेंस का होता है, जिसमें राउंड टेबल कॉन्फ्रेंस होती है।

इस कॉन्फ्रेंस में एसएसबी बोर्ड मेंबर्स ( एसएसबी प्रेजिडेंट, एसएसबी वाईस-प्रेजिडेंट, साइकोलोजिस्ट्स जीटीओ, आईओ) और उम्मीदवार प्रेजेंट होते हैं।

कॉन्फ्रेंस में राउंड टेबल कॉन्फ्रेंस होती है | जिसमें एसएसबी बोर्ड मेंबर्स: एसएसबी प्रेजिडेंट, एसएसबी वाईस- प्रेजिडेंट, साइकोलोजिस्ट्स जीटीओ, आईओ (तीनों इंटरव्यूवर) और उम्मीदवार प्रेजेंट होते है। इस कॉन्फ्रेंस में उम्मीदवारों का फाइनल मूल्यांकन होता है।

इंटरव्यूवर कॉन्फ्रेंस में उम्मीदवार से 3-4 सवाल पूछते हैं। यह एसएसबी साक्षात्कार प्रक्रिया का 5 से 10 मिनट का होता है।

  1. आइए एक नजर उन कॉमन सवालों पर डाला जाए जो अक्सर कॉन्फ्रेंस में पूछे जाते हैं –
  2. आपके लिए सेना या नौसेना या वायु सेना कितना महत्व रखता है?
  3. आपकी पांच साल की योजना अब से क्या है?
  4. आप सेना या नौसेना या फिर वायु सेना में क्यों शामिल होना चाहते हैं?
  5. आपका समग्र अनुभव एसएसबी साक्षात्कार के दौरान कैसा रहा?

कॉन्फ्रेंस समाप्त होने के बाद चयनित उम्मीदवारों को अगले राउंड – मेडिकल टेस्ट के लिए भेजा जाता है और जो उम्मीदवार चयनित नहीं हो पाते हैं उन्हें एसएसबी केंद्र से रेलवे स्टेशन तक छोड़ दिया जाता है।

निष्कर्ष – SSB interview kya hai

तो दोस्तों, आज के लेख में हमने आप सभी को SSB interview kya hai और एसएसबी इंटरव्यू कैसे क्रैक करें? से related सम्पूर्ण ज्ञान दिया है।

हम आशा करते हैं कि हमारा आज का लेख “SSB interview kya hai” आपके लिए उपयोगी साबित होगा। इसमें दी गई जानकारी से आपका सपना इंडियन एयरफोर्स, नेवी तथा आर्मी में अधिकारी पद पर ज्वॉइन करने का जरूर पूरा होगा।

हमारी दी हुई जानकारी से यदि आपको लाभ हुआ हो तो हमारे इस लेख को आप, अपने सोशल नेटवर्किंग साइट्स और अपने Friends के साथ जरूर शेयर करे।

अगर आपके मन मस्तिष्क में हमारे आज के आर्टिकल (SSB interview kya hai और एसएसबी इंटरव्यू कैसे क्रैक करें?) से संबन्धित कोई सवाल या सुझाव है तो आप नीचे Comment करके जरूर बताएं।


Leave a Comment